Saturday, May 01, 2010

Zero Effort Cycling


I have an itching to buy a simple but useful bicycle. Might like to see entire Allahabad on Cycle.
But I saw one man doing zero effort cycling. He was hooking on to the back of a trailer carrying logs. Pretty dangerous. No? I can not think of doing such heroics myself!

2 comments:

Stuti Pandey said...

हा हा ... ज्ञान अंकल...आप कृपया ऐसा कुछ मत ट्राई कीजियेगा!
बिहार में कुछ tractors पे लिखा रहता है - "लटकला ता गईला बेटा"

Neeraj Rohilla said...

बचपन में खूब किया है ये कारनामा. स्कूल से घर लौटते समय किसी टैक्टर ट्राली की जंजीर पकड के साइकिल चलाना। कुछ महीनों तक दोस्त को ये कारनामा करते देखते रहे और खुद करने की हिम्मत न हुयी, फ़िर एक दिन जी कडा करके जंजीर पकडी तो बस मजा ही आ गया । गन्नों से भरी टैक्टर ट्राली से गन्ने भी चुराये हैं।

बचपन और लडकपन में वो वो काम कर गुजरे हैं कि जिन्हे अब सोचकर ही सिरहन सी उठती है।